What is STF Full Form? STF का Full Form क्या होता है? जानें “स्पेशल टास्क फोर्स” के बारे में जरूरी बातें…

STF Full Form
5
(1)

STF Full Form Hindi

नमस्कार दोस्तों अक्सर न्यूज में आप STF का नाम सुनते ही होंगे। लेकिन दोस्तों क्या आप जानते हैं कि ये STF क्या है? या फिर STF का मतलब क्या होता है? और STF का फुल फॉर्म (STF Full Form) क्या होता है?

यदि नहीं तो दोस्तों STF के बारे में जानकारी पाने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल STF Full Form को पढ़ सकते हैं और आज के इस आर्टिकल में हम जानकारी देंगे STF के बारे में की STF क्या है? या फिर STF का मतलब क्या है? और STF का फुल फॉर्म (STF Full Form) क्या होता है?

नमस्कार दोस्तों हिन्दी में जानें ब्लॉग पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर एसटीएफ के बारे मे जानकारी (STF Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए हम आपको एसटीएफ क्या है? या फिर एसटीएफ की फुल फॉर्म (STF Full Form) क्या होती है? इनके बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप STF Kya Hai? (STF Full Form) के बारे में जान सकेंगे।

STF का मतलब क्या है?

तो दोस्तों सबसे पहले आपको बता दें कि STF की Full Form होती है Special Task Force

STF Full Form: Special Task Force

सटीएफ फुल फॉर्म इन हिंदी : स्पेशल टास्क फोर्स  

STF Full Form :- Special Task Force

क्या है ये स्पेशल टास्क फोर्स (STF)

Special Task Force (STF) Police की एक Unit या इकाई है जिसका उद्देश्य राज्य के अंतर्गत जितने भी गैंग सक्रिय होते है उनके खिलाफ कार्यवाही करना तथा उनकी रोकथाम करना है। STF राज्य के अंतर्गत जितने भी डकैती गैंग, संगठित अपराध, माफिया गैंग इत्यादि होते है उनको जिला पुलिस के सहयोग से उनके विरूद्ध कार्यवाही करना है, तथा राज्य के बाहर आने राज्यों की स्थानीय पुलिस के सहयोग से उनकी धरपकड़ करना तथा उनकी रोकथाम करना है। Special Task Force में Police विभाग से ही अधिकारी/ कर्मचारी नियुक्त किये जाते है।

Special Task Force (STF) एक सुरक्षा फोर्स है जो राज्य सरकार के अंतर्गत आता है। ये पुलिस विभाग की एक बेहद खास यूनिट होती है। पुलिस में इस यूनिट का गठन विशेष कार्यों को पूरा करने के लिए किया जाता है।

देश की आतंरिक सुरक्षा को बनाये रखने के लिए पुलिस विभाग सबसे महत्वपूर्ण अंग माना जाता है। पुलिस का काम केवल अपराधियों को पकड़कर जेल में डालना ही नहीं, बल्कि क़ानून व्यवस्था को सुचारु रूप से चलाने का जिम्मा भी होता है। सड़क और परिवहन व्यवस्था को संभालने के लिए यातायात पुलिस, आम जनता की परेशानियों को सुनने के लिए थाने और कोतवाली पुलिस, जबकि अपराधियों की धर पकड़ के लिए ‘Special Task Force’ काम करती है।

भारत एक बहुत बड़ा देश है, और इस कारण से यहाँ पर क्राइम के मामले भी बहुत ज्यादा होते रहते है, दोस्तों किसी भी तरह के क्राइम को रोकने के लिए STF का गठन किया है, भारत में, प्रत्येक राज्य में कुछ समस्याओं से निपटने के लिए एक Special Task Force(STF) गठित करने की शक्ति है। STF का कार्य आपने राज्य में होनी वाली आपराधिक गतिविधियों पर करवाई करना है, यह राज्य सरकार के नीचे काम करती है।

कब हुई थी STF (Special Task Force) की शुरुआत?

तमिलनाडु और कर्नाटक राज्यों ने पहली बार 1980 के दशक में हाथी दांत के शिकार करने वाले वीरप्पन का मुकाबला करने के लिए इस प्रकार की विशेष टास्क फोर्स का गठन किया, वीरप्पन को सेना ने 2004 में ऑपरेशन कोकून के साथ मार डाला, 1980 के दशक के उत्तरार्ध में, पंजाब में उग्रवाद का मुकाबला करने के लिए भी इस तरह के बल का गठन किया गया था।

इन्हें भी देखें :-  What is PPS Full Form? PPS का Full Form क्या होता है? जानें पीपीएस के बारे में जरूरी बातें…

भारत में Special Task Force (STF) का गठन 4 मई, 1998 को लखनऊ में हुआ था। इस दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस ने राज्य में बढ़ते अपराध को रोकने के लिए इस स्पेशल पुलिस फ़ोर्स का गठन किया था।

कहा जाता है कि यूपी में Special Task Force (STF) का गठन करने का विचार कु्ख्यात माफिया श्रीप्रकाश शुक्ला पर शिकंजा कसने के लिए आया था। दरअसल, माफिया श्रीप्रकाश शुक्ला यूपी में पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका था। उन दिनों श्रीप्रकाश शुक्ला अपराध की दुनिया में बड़ा नाम था। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उसने एक बार उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की हत्या की सुपारी ले ली थी।

प्रदेश पुलिस द्वारा इसका गठन करने के बाद वहां पर काफी हद तक अपराध दर को कम भी किया, दोस्तों उत्तर प्रदेश एक ऐसा राज्य रहा है जहां पर किसी समय में जबरन वसूली और अन्य गैरकानूनी गतिविधियां अपने उच्च स्तर पर थीं। यूपी में अपराधियों को पकड़ने और अपराधों को नियंत्रित करने में एसटीएफ बहुत सफल साबित हुई। तब से यह यूपी पुलिस का एक अभिन्न अंग रहा है।

लगभग 20 वर्षों के अपने छोटे से जीवनकाल में UP STF के पास भारत के महामहिम राष्ट्रपति द्वारा दिए गए 81 से अधिक पुलिस पदक वीरता पुरस्कार और 60 अधिकारियों को विशिष्ट वीरता के कार्यों के लिए आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन प्रदान की जा चुकी है।

STF (स्पेशल टास्क फोर्स) के कार्य / उद्देश्य

Special Task Force

STF (स्पेशल टास्क फोर्स) का मुख़्य कार्य किसी स्पेशल टास्क के लिए पुलिस विभाग को अहम जानकारियां उपलब्ध कराना होता है। अपराधी या आपराधिक नेटवर्क को निष्क्रिय करने और आतंकवाद विरोधी गतिविधयों पर नज़र रखना भी इस फ़ोर्स का मुख्य कार्य है। देश के हर राज्य की पुलिस के पास एक Special Task Force (STF) होती है।

Special Task Force (STF) का सबसे मुख्य कार्य होता है माफिया गैंग के खिलाफ पूरी व पुख्ता जानकारी एकत्रित करना।

इसके बाद राज्य में सक्रिय तमाम माफिया गैंग्स के खिलाफ सूचना के आधार पर तुरंत व निर्णायक कार्यवाही करना।

साथ ही STF का दूसरा सबसे मुख्य कार्य है ISI Agents के खिलाफ त्वरित रुप से एक्शन लेना।

इसके अलावा राज्य की माननीय जिला पुलिस के साथ समांजस्य व तालमेल स्थापित करते हुए राज्य के भीतर सक्रिय तमाम माफिया गैंग्स को समाप्त करना भी STF का मौलिक लक्ष्य माना जाता है।

इसके साथ ही STF को विशेष तौर पर डकैतो पर और अन्तर्राज्यीत गैंगो पर त्वरित कार्यवाही के लिए जाना जाता है यही इनका लक्ष्य होता है।

यहाँ पर हम आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे की पहले STF के कार्यों में राज्य के अंतर्गत ISI Agents की आतंकवादी गतिविधियों के विरुद्ध कार्यवाही भी शामिल थी किन्तु जब से ATS (Anti-Terror Squad) का गठन हुआ है तब से आतंकवादी गतिविधियों कर विरुद्ध कार्यवाही वाला कार्य ATS के पास चला गया है। अब STF केवल माफिया गैंग, डकैती गैंग, संगठित अपराध गैंग इत्यादि के विरूद्ध कार्यवाही के लिए समर्पित संगठन है।

STF (Special Task Force) का गठन कैसे होता है?

अब आपको बता दें कि STF का गठन कैसे होता है। तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि स्पेशल टास्क फोर्स की नियुक्ति विशेष तौर पर राज्य के महानिदेशक रैंक के पुलिस अधिकारी द्वारा की जाती है जिसमें पुलिस महानिरीक्षक प्रमुखता से उनकी मदद करते है। इसके साथ ही इसमें पुलिस विभाग के कई अफसर कार्यरत रहते हैं।

इन्हें भी देखें :-  What is TWS Full Form? Bluetooth earphone में TWS क्या होता है? जानें TWS के बारे में जरूरी बातें…

STF (Special Task Force) कार्य कैसे करता है?

यहां आपको बता दें कि STF (Special Task Force) कई तरीकों से कार्य करते हैं।

Special Task Force (STF)

STF (Special Task Force) अलग–अलग समस्याओं से निपटने के लिए गठित किये जाते है जो कि अपने लक्ष्य प्राप्ति के साथ ही समाप्त कर दिये जाते है इसी वजह से STF कई टीमों के रुप में अपने लक्ष्य की प्राप्ति करते हैं।

इसके साथ ही STF की प्रत्येक टीम को एडिशनल एसपी के द्वारा दिशा-निर्देश दिए जाते हैं। साथ ही इनको आईजी रैंक के अफसर भी मॉनिटर करते हैं।

इसके अलावा STF के सभी कार्यों के लिए SSP को प्रभारी बनाया जाता है और वही किसी भी ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए प्लान बनाते हैं।

यदि किसी वजह से STF को अपने राज्य के अतिरिक्त किसी अन्य राज्य में, कोई ऑपरेशन करना होता है तो सबसे पहले STF को उस राज्य की पुलिस को सूचना देनी होती है जिसके बाद दोनो राज्यों के। पुलिस ऑफिसर मिलकर ऑपरेशन को पूरा करते है।

इसके अलावा आपको बता दें कि एसटीएफ के पास पुलिस बल के मुकाबले कुछ ज्यादा पॉवर दी जाती हैं। साथ ही इनके कार्य को कई बार सीधा मंत्रालय से निर्देश दिए जाते हैं।

तो दोस्तों ऊपर आर्टिकल मे हमने आपको STF का फुल फॉर्म (STF Full Form) : Special Task Force के बारे मे जानकारी दी है अब आगे इसी आर्टिकल में हम आपको हम अलग अलग फील्ड के हिसाब से STF टर्म के कुछ अन्य Full Form के बारे में बताएँगे।

Other STF Full Form

STF Full Form in WWE Fight : Stepover Toehold Facelock

STF Full Form in WWE Fight :- Stepover Toehold Facelock

“Stepover Toehold Facelock” WWE Fight में एक स्टेप होता है यह होल्ड एक प्रतिद्वंद्वी पर किया जाता है जो मैट पर औंधे मुंह लेटा होता है। पहलवान प्रतिद्वंद्वी के पैरों में से एक को पकड़ लेता है और प्रतिद्वंद्वी के टखने को उनकी जांघों के बीच रख देता है। पहलवान तब प्रतिद्वंद्वी की पीठ के ऊपर लेट जाता है और प्रतिद्वंद्वी के सिर के चारों ओर अपनी बाहें बंद कर देता है।

STF Full Form in Text / Facebook / Whatsapp / Instagram / Social Media : “Shut the F*ck”

सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, आदि में Shut The F*ck यह कहने का एक तरीका है कि किसी को चुप रहना चाहिए, लेकिन अधिक आक्रामक तरीके से।

हालाँकि, अधिक संभावना यह है कि यह एक टाइपिंग mistake हो, क्योंकि वास्तविक संक्षिप्त नाम STFU या “shut the f * ck up” है जिसका अर्थ होता है “बंद करें”।

STF Full Form in Medical : Short-Time Fasting

Short – Time Fasting का मतलब है कि आप दिन के एक भाग में खाते हैं और दिन के बाकी समय में, आम तौर पर लगभग 14 घंटे, आप नहीं खा रहे हैं। Short-Time Fasting वजन कम करने का एक तरीका है। इस विधि में आप सुबह का नाश्ता नहीं करते हैं इसके बाद आप दोपहर का भोजन अच्छे से लेते है। और रात के समय आप बहुत हल्का डिनर लेते हैं।

STF Full Form in Gaming : Storm the Front (Gaming Clan)

Some Other STF Full Form

TermFull Form
STFSilence the Fall
STFSpecial Tactical Force
STFSearch the Forum
STFShrink to Fit
STFSecond to Find
STFStep – Over Toe – Hold Face – Lock
STFScientiFiction
STFSupport the Future
STFStar-Fleet
STFSupport the Future
STFStar-Flee
STFSteal This Film
STFStorming the Floor (college basketball website)

FAQ About STF Full Form

Q. STF का Full Form क्या है? What is STF Full Form?

Ans : STF की Full Form होता है Special Task Force

STF Full Form : Special Task Force
एसटीएफ फुल फॉर्म इन हिंदी : स्पेशल टास्क फोर्स

Special Task Force (STF) Police की एक Unit या इकाई है जिसका उद्देश्य राज्य के अंतर्गत जितने भी गैंग सक्रिय होते है उनके खिलाफ कार्यवाही करना तथा उनकी रोकथाम करना है।

इन्हें भी देखें :-  RCH Full Form in Hindi | RCH का मतलब क्या होता है? जाने RCH के बारे मे जरुरी बातें

वहीं WWE Fight में STF का मतलब होता है Stepover Toehold Facelock
STF Full Form in WWE Fight : Stepover Toehold Facelock

Stepover Toehold Facelock” WWE Fight में एक स्टेप होता है यह होल्ड एक प्रतिद्वंद्वी पर किया जाता है जो मैट पर औंधे मुंह लेटा होता है।

वहीं सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, आदि में STF का मतलब होता है Shut The F*ck

सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, आदि में Shut The F*ck यह कहने का एक तरीका है कि किसी को चुप रहना चाहिए, लेकिन अधिक आक्रामक तरीके से।

इसी तरह मेडिकल के क्षेत्र में STF का मतलब होता है Short-Time Fasting.
Short-Time Fasting वजन कम करने का एक तरीका है।

Q. भारतीय पुलिस में Special Task Force (STF) क्या होता है?

Ans : Special Task Force (STF) Police की एक Unit या इकाई है जिसका उद्देश्य राज्य के अंतर्गत जितने भी गैंग सक्रिय होते है उनके खिलाफ कार्यवाही करना तथा उनकी रोकथाम करना है। STF राज्य के अंतर्गत जितने भी डकैती गैंग, संगठित अपराध, माफिया गैंग इत्यादि होते है उनको जिला पुलिस के सहयोग से उनके विरूद्ध कार्यवाही करना है, तथा राज्य के बाहर आने राज्यों की स्थानीय पुलिस के सहयोग से उनकी धरपकड़ करना तथा उनकी रोकथाम करना है। Special Task Force में Police विभाग से ही अधिकारी/ कर्मचारी नियुक्त किये जाते है।

Q. Special Task Force (STF) का गठन कौन करता है?

Ans : Special Task Force (STF) का गठन पुलिस महानिदेशक द्वारा किया जाता है। इसके बाद इनके ऑपरेशन के लिए एसएसपी को प्रभारी बनाया जाता है।

Q. Special Task Force / एसटीएफ को दिशा-निर्देश कौन देता है?

Ans : Special Task Force / एसटीएफ को एडिशनल एसपी द्वारा दिशा निर्देश दिए जाते हैं। इसके साथ ही कई बार इसे सीधे मंत्रालय से भी निर्देश मिलते हैं। साथ ही इनके पास पुलिस के मुकाबले कुछ ज्यादा पॉवर होती हैं।

तो दोस्तों ऊपर आर्टिकल में हमने आपको STF का मतलब (STF Full Form) : Special Task Force और इसके अलावा अलग अलग फील्ड में STF के अलग अलग Full Form के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

उम्मीद है इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको STF की फ़ुल फॉर्म (STF Full Form) क्या है? के बारे में जानकारी मिल गयी होगी। और आर्टिकल आपको पसंद आया होगा।

दोस्तों अगर आपके पास STF Full Form के बारे में ऊपर दी गई जानकारी के अलावा और भी कुछ जानकारी है तो आप उसे नीचे कमेंट में लिखकर हमसे शेयर कर सकते हैं हम आपकी उस जानकारी को भी इस आर्टिकल में add कर देंगे।

और दोस्तों ऑर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने सोशल मीडिया नेटवर्क जैसे Facebook, Whatsapp आदि पर शेयर जरूर कर दीजिए ताकि और लोगों को भी इस बारे में जानकारी मिल सके।

धन्यवाद!

दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी कैसी लगी।

अगर ये आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो इसे 5 star रेटिंग दीजिए!

Average rating 5 / 5. Vote Count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

दोस्तों अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि उन्हें भी इस बारे में जानकारी मिल जाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *