What is CS Full Form? CS का Full Form क्या होता है? जानें CS के बारे में जरूरी बातें…

5
(1)

CS Full Form

दोस्तों क्या आप जानते हैं की CS kya hai? CS की फुल फॉर्म (CS Full Form) क्या होती है?

नमस्कार दोस्तों हमारे इस ब्लॉग हिन्दी में जानें पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर CS के बारे मे (CS Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए आपको CS kya hota hai? CS ka Full Form kya hota hai? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप CS kya hai? (CS Full Form) के बारे में जान सकेंगे। 

CS kya hai? (CS Full Form)

तो दोस्तों आपको बता दें कि वैसे तो CS शब्द के अलग अलग फील्ड के हिसाब से बहुत सारे अलग अलग फुल फॉर्म होते हैं लेकिन ज्यादातर इस CS शब्द को दो फुल फॉर्म Computer Science (कंप्यूटर साइंस) या Company Secretary (कंपनी सेक्रेटरी) के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

CS Full Form : Computer Science / Company Secretary

CS Full Form in Hindi : कंप्यूटर साइंस / कंपनी  सेक्रेटरी

CS Full Form : Computer Science (कंप्यूटर साइंस)

CS Full Form Computer Science

CS का एक Full Form Computer Science (कंप्यूटर साइंस) होता है। Computer Science जिसे आमतौर पर CS कहा जाता है, Computer और Computational System का अध्ययन है। जिसके अंतर्गत Computer Technology (Hardware, Software) के बारे में Study की जाती है।

इसके अंतर्गत Computer System (Hardware), Program (Software), Algorithm, Theory, Logic, Data Structure, और Programming language जैसे विषय शामिल होते है।

कंप्यूटर साइंस Data के साथ Interact करने वाली प्रोसेस का अध्ययन भी है। जिसमे डेटा को Program की Form में दर्शाया जाता है।

आसान भाषा मे कंप्यूटर साइंस, Computer से सम्बंधित सभी चीजों के बारे में अध्ययन करने का विज्ञान है।

कंप्यूटर साइंस के भीतर अध्यन के प्रमुख क्षेत्रो में Computer System, Artificial Intelligence, Networking, Database Management, Human Computer Interaction, Numeric Analysis, Software Engineering, Vision & Graphics और Computer Theory जैसे विषय शामिल किए जाते है।

Computer Scientist हमेशा कुछ नया खोजने के लिए प्रयासरत रहते है। वे कंप्यूटर के द्वारा नई चीजें करवाने या कार्यो को अधिक कुशलता से पूरा करने के लिए सॉफ्टवेयर लिखते है। वे Mobile Devices के लिए Application बनाते है, Websites Build करते है तथा Software Program भी डेवलप करते है।

Computer Science में Career कैसे बनाये?

Computer Science (CS) में करियर को लेकर अगर आप उलझन में है, तो आपको अपने आप से यह सवाल पूछना चाहिए की कंप्यूटर साइंस की कौन सी फील्ड आपको पसंद है उदाहरण के लिए यदि आप कंप्यूटर के हार्डवेयर की फील्ड ज्यादा पसंद है तो आप कंप्यूटर हार्डवेयर के क्षेत्र में जा सकते हैं वहीं यदि आपको कंप्यूटर सॉफ्टवेयर या प्रोग्रामिंग की फील्ड ज्यादा पसंद है तो आप कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की लाइन में जा सकते हैं।

यहां नीचे हमने Computer Science के उन क्षेत्रों के बारे में जानकारी दी गयी है जिसमे आप अपना करियर शुरू कर सकते है।

Computer Hardware

जैसा कि नाम से ही पता चलता है की कंप्यूटर साइंस का यह क्षेत्र Computer Hardware के बारे में है। इसके अंतर्गत Computer के Hardware से सम्बंधित काम जैसे Computer Assembling, Computer Repairing, Laptop Repairing, Computer Hardware से सम्बन्धित Troubleshooting आदि काम करने होते है।

एक Computer Hardware Engineer, Computer System और उनके Components के बारे में Research उनका Design, Development और Test प्रक्रिया करते है।

इन्हें भी देखें :-  What is NABARD Full Form? NABARD का Full Form क्या होता है? जानें नाबार्ड के बारे में जरूरी बातें…

Computer Software Engineering

Computer के Software के Development और Design और Implementation से सम्बंधित कार्य सॉफ्टवेयर इंजीनियर के अंतर्गत आते है। इसमें यूजर्स की जरूरतों का विश्लेषण करके Softwares को Developed करना Design करना, Construction और End User Application का परीक्षण करने की प्रॉसेस शामिल होती है। यह सब विभिन्न प्रकार की Programming Language के द्वारा किया जाता है।

Programming Languages

Software Program को लिखने की प्रक्रिया Programming Language के द्वारा ही होती है। इसके अंतर्गत आपको कई प्रकार के प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेस का अध्ययन करना होता है। जिससे आप नए कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बना पाए।

एक Computer Programmer को प्रोग्राममिंग लैंग्वेज (Python, JavaScript, C language, C++, PHP, Java etc.) का अच्छा ज्ञान होता है। इसके अलावा Programmers पहले से मौजूद सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को Test करने के साथ उसमे मौजूद Errors को भी ठीक करते है।

Computer Networking

कंप्यूटर साइंस के इस फील्ड में कंप्यूटर्स के Interconnection से सम्बन्धित क्षेत्रों में काम किया जाता है। Computer Networking में कई प्रकार के Practical Topics को शामिल करता है, जैसे – Network Traffic को कम करने के लिए डेटा को संचारित करना और बेहतर Protocol बनाना।

इसके अलावा Network to Network कनेक्शन के लिए Algorithm शामिल है, जिससे नेटवर्क का पता लगाने, नेटवर्क के दोहन या क्षति को रोकने के लिए संसाधन का पता लगाया जाता है और load की बैलेंसिंग की जाती है।

Graphics Design Development

आजकल कंप्यूटर ग्राफिक डिजाइनिंग की फील्ड बहुत ज्यादा डिमांड में है। Computer Science की इस फील्ड केअंदर आपको बहुत सारे काम मिल सकते है जैसे Logo Designing, एड मेकिंग, और विभिन्न प्प्रकार के अलग अलग क्षेत्रों के लिए ग्राफिक्स की डिजाइनिंग करना। 

वैसे तो यह क्षेत्र Animated Movies बनाने के लिए प्रसिद्ध था। लेकिन अब इसमे इसमे Data Visualization जैसे विषयों को भी शामिल किया गया है, जिससे Complex Data को समझना और Analyses करना आसान हो जाता है. अगर आप Graphical 3D दुनिया को पसंद करते है, तो भी आप Computer Graphics के क्षेत्र में आगे जा सकते है।

इसके अलावा भी Computer Science के कई क्षेत्र है जिनका अध्ययन करके आप एक बेहतर करियर बना सकते है। 

Computer Science (कंप्यूटर साइंस) के फील्ड में बहुत ज्यादा टेक्निकल काम होता है और इस फील्ड के प्रोफेशनल की मार्केट में बहुत ज्यादा डिमांड है। इसलिए अगर कोई इस फील्ड में करियर बनाना चाहता है तो उसे बहुत अच्छी सैलरी की जॉब मिलती है। देश में कई एजुकेशनल इंस्टीट्यूट कंप्यूटर साइंस का कोर्स कराते हैं। कंप्यूटर साइंस के कोर्स ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट लेवल पर पूरे किए जा सकते हैं। साथ ही, देश के विभिन्न इंस्टीट्यूट कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स भी कराते हैं।

भारत के टॉप Computer Science (CS) कॉलेज

  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे (IIT BOMBAY)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली (IIT DELHI)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर (IIT KANPUR)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास (IIT MADRAS)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की (IIT Roorkee)
  • बिरला प्रौद्योगिकी और विज्ञान संस्थान (BITS Pilani)
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गुवाहाटी (IIT GUWAHATI)
  • राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NIT), तिरुचिरापल्ली
  • बिरला प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना

Eligibility Criteria for Computer Science (CS) Course

  • ग्रेजुएट लेवल : ग्रेजुएट लेवल  पर कंप्यूटर साइंस के कोर्स में प्रवेश पाने के इच्छुक उम्मीदवार को साइंस स्ट्रीम में कम से कम 50% अंकों के साथ 10+2 उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • पोस्ट ग्रेजुएट लेवल : पोस्ट ग्रेजुएट लेवल पर कंप्यूटर साइंस कोर्स में प्रवेश पाने के इच्छुक उम्मीदवार को B.Sc. (ऑनर्स) कंप्यूटर साइंस या B.Sc. एप्लाइड फिजिकल में ग्रेजुएट पूरा करना होगा।
  • डिप्लोमा कोर्स : कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा करने के इच्छुक उम्मीदवारों को प्रमुख विषय के रूप में science के साथ दसवीं क्लास में पास होना चाहिए।

Computer Science (CS) Course के लिए प्रवेश परीक्षा

Computer Science (CS) के कोर्स में ज्वाइन करने के लिए कुछ कॉलेज एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करते हैं जबकि कुछ अन्य मैरिट के आधार पर प्रवेश देते हैं। नीचे  कुछ प्रवेश परीक्षाएं सूचीबद्ध हैं जिन्हे क्लियर करके आप Computer Science (CS) के कोर्स को ज्वाइन कर सकते हैं :

इन्हें भी देखें :-  DPR Full Form in Hindi | DPR का मतलब क्या होता है? जानें DPR के बारे में जरुरी बातें

JEE MAINS : – यह एंट्रेंस एग्जाम प्रतिष्ठित IIT सहित कई कॉलेजों में ग्रेजुएट लेवल के इंजीनियरिंग कोर्सेज में प्रवेश देने के लिए आयोजित की जाती है।

BITSAT : – यह एक एंट्रेंस एग्जाम है जो BITS पिलानी द्वारा ऑनलाइन आयोजित की जाती है ताकि उन उम्मीदवारों को प्रवेश दिया जा सके जो पाठ्यक्रम के लिए पात्र हैं।

VITEEE : – वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग का एंट्रेंस एग्जाम एक सामान्य एंट्रेंस एग्जाम है जो VIT के परिसरों में प्रवेश देने के लिए आयोजित की जाती है।

DUET : – दिल्ली यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम वह एंट्रेंस एग्जाम है जो दिल्ली यूनिवर्सिटी द्वारा छात्रों को उनके ग्रेजुएट के साथ-साथ विश्वविद्यालय द्वारा प्रस्तावित पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज में प्रवेश देने के लिए आयोजित की जाती है।

IIT JAM : – भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम अपने M.Sc. में प्रवेश देने के लिए आयोजित की जाती है। और अन्य स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम जो IIT, बैंगलोर में पेश किए जाते हैं।

तो दोस्तों ऊपर हमने आपको CS की फुल फॉर्म (CS Full Form) Computer Science के बारे में डिटेल में जानकारी दी है अब यहां नीचे हम आपको CS की एक और पॉपुलर फुल फॉर्म (CS Full Form) Company Secretary के बारे जानकारी दी है

CS Full Form : Company Secretary

CS Full Form Company Secretary

CS की एक और पॉपुलर फुल फॉर्म (CS Full Form) Company Secretary (कंपनी सेक्रेटरी) होता है। यह प्राइवेट और पब्लिक सेक्टर के संगठन में एक वरिष्ठ पद है। Company Secretary (CS) प्राइवेट सेक्टर और बड़े पब्लिक सेक्टर्स में उच्च वेतन वाली नौकरियों में से एक है। यह अक्सर मैनेजर या उससे भी ऊपर की पोस्ट होती है। एक Company Secretary (CS) कंपनी के टैक्स रिटर्न को बनाने, रखने और ऑडिट करने, कंपनी के लेनदेन और खातों का रिकॉर्ड रखने, कंपनी के वित्तीय स्वास्थ्य के बारे में निदेशक मंडल को सलाह देने और यह सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है कि कंपनी कानूनी और वैधानिक नियमों का अनुपालन करती है।

Company Secretary (CS) बनने के लिए Eligibility Criteria

एक Company Secretary (CS) की जॉब पाने के लिए, आपको इसकी प्रोफेशनल ट्रेनिंग को पूरा करना होगा और उसके बाद इनका एग्जाम क्लियर करना होगा। Company Secretary (CS) का कोर्स पूरा करने के बाद आप CS बन सकते हैं। कोई भी छात्र जो एक Company Secretary (CS) बनने की इच्छा रखता है, उसे इसके लिए नीचे दी गई पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा :

Company Secretary (CS) के कोर्स के के फर्स्ट लेवल (फाउंडेशन प्रोग्राम या CSEET) के लिए रजिस्ट्रेशन करने के लिए आवश्यक न्यूनतम योग्यता किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या समकक्ष से किसी भी स्ट्रीम (ललित कला (fine arts) को छोड़कर) में कक्षा 12 वीं पास है।

जो भी स्टूडेंट 10+2 पास करने के बाद Company Secretary (CS) के कोर्स में शामिल होना चाहते हैं, उन्हें इस कोर्स करने के लिए तीन लेवल में ये कोर्स करना होता है जिसमे पहला है फाउंडेशन लेवल कोर्स, दूसरा एग्जीक्यूटिव लेवल प्रोग्राम और फिर तीसरा प्रोफेशनल लेवल का प्रोग्राम होता है।

वह स्टूडेंट जो ग्रेजुएट लेवल की पढ़ाई के बाद Company Secretary (CS) का कोर्स करना चाहते हैं, उन्हें इस कोर्स के केवल दो लेवल की पढ़ाई करनी होगी : एग्जीक्यूटिव लेवल प्रोग्राम और प्रोफेशनल लेवल प्रोग्राम

जिन स्टूडेंट्स ने ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन (ललित कला (fine arts) को छोड़कर) पूरा कर लिया है और ICWAI द्वारा CA और Cost Accounting कोर्स का फाउंडेशन लेवल क्लियर कर लिया है, वे स्टूडेंट्स सीधे Company Secretary (CS) कोर्स के एग्जीक्यूटिव लेवल में प्रवेश ले सकते हैं।

Company Secretary (CS) में जॉब ऑपरच्युनिटी

CS का कोर्स करने के बाद आप निम्नलिखित जॉब्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं

Business Consultant

एक Business Consultant वे पेशेवर होते है जो बिजनेस के लिए पेशेवर या विशेषज्ञ सलाह प्रदान करता है। Business Consultant किसी कंपनी के विभिन्न कार्यों को सुधारने का कार्य करते हैं। वे एक कंपनी में मौजूद विभिन्न कमजोरियों का आकलन करते हैं, और व्यावसायिक समाधान सुझाते हैं।   

इन्हें भी देखें :-  What is ABVP Full Form? ABVP क्या है? ABVP का Full Form क्या होता है? जानें ABVP के बारे में जरूरी बातें…

Operations Manager   

Operations Manager बड़े और छोटे दोनों पैमाने के संगठनों में कर्मचारियों की देखरेख, भर्ती और प्रशिक्षण का काम करते हैं।  वे प्रक्रिया में सुधार की रणनीति बनाने, क्वॉलिटी एश्योरेंस के मैनेजमेंट आदि के लिए भी जिम्मेदार हैं।   

Investment Banker

investment bankers पूंजी जुटाने और उन्हें वित्तीय परामर्श सेवाएं देने में व्यक्तियों या किसी व्यावसायिक संगठन की सहायता करते हैं। वे निवेशकों और सिक्योरिटी इश्यूर्स के बीच मध्यस्थ बनकर नई फर्मों को सार्वजनिक होने में मदद करते हैं।

Financial Advisor   

Financial Advisor अपने ग्राहकों को उनके समग्र कल्याण के लिए वित्तीय योजना बनाने में मदद करते हैं। वे एक तरह के सलाहकार होते हैं जो आपकी वर्तमान वित्तीय स्थिति का ऑडिट करते हैं और आपके भविष्य के लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में आपकी सहायता करने की योजना बनाते हैं।

Marketing Manager   

एक Marketing Manager व्यवसाय के विकास के लिए और उसे चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इनका मुख्य कार्य उत्पाद, सेवा या व्यवसाय को बढ़ावा देना होता है। वे सुनिश्चित करते हैं कि दर्शकों के साथ कंपनी का संचार सही तरीके से किया जाता है, और वे संभावित ग्राहकों को आकर्षित करने में सफल होते हैं।

स्टॉक ब्रोकर   

एक स्टॉक ब्रोकर वित्तीय बाजार का एक विनियमित प्रतिनिधि होता है जो शेयर बाजारों में शेयरों की बिक्री और खरीद की सुविधा के लिए जिम्मेदार होता है। वे इसे वित्तीय संस्थानों, निवेशक ग्राहकों और फर्मों की ओर से करते हैं।

तो दोस्तों ऊपर हमने आपको CS शब्द की दोनो फुल फॉर्म (CS Full Form) Computer Science और Company Secretary के बारे में जानकारी दी है। लेकिन दोस्तों CS शब्द की कुछ और फुल फॉर्म् (CS Full Form) भी होती है जो हमने यहां नीचे लिस्ट में दी है। आप इनमे से अपनी जरूरत के हिसाब से CS की किसी भी फुल फॉर्म (CS Full Form) के बारे में गूगल से डिटेल में जानकारी ले सकते हैं।

Source : byjus

Some Other CS Full Form   

CS Full FormCategory
Chip SelectAssembly
Computer SupportGeneral Computing
Chief of StaffMilitary
Cache SizeSoftware
Chevette ScooterGeneral
Communication ServicesMilitary
Computer SocietyIEEE
Caught StealingBaseball
Cool StuffChat
Community ServiceLaw & Legal
Case SensitiveCyber & Security
Civil ServiceUS Government
Character SetAssembly
Customer SatisfactionGeneral Business
Control SystemsLaboratory
Committee SubstituteOccupation & Positions
Common SenseCommunity
Cross SectionArchitecture
Client-ServerGeneral Computing
Consumer’s SurplusBusiness Terms
Customer ServiceGeneral Business
Counter StrikeMilitary
Cockayne SyndromeDiseases & Conditions
CorticoSteroidsMedicines & Drugs
Copper SulfateChemistry
Conditioned StimulusPsychology
Chief SecretaryJob Titles
Creative SuiteSoftware & Applications
Control StationTechnical Terms
Caesium/CesiumChemistry

FAQ About CS Full Form

Q. CS की Full Form क्या होती है?

Ans : वैसे तो CS शब्द के अलग अलग फील्ड के हिसाब से बहुत सारे अलग अलग फुल फॉर्म होते हैं लेकिन ज्यादातर इस CS शब्द को दो फुल फॉर्म Computer Science (कंप्यूटर साइंस) या Company Secretary (कंपनी सेक्रेटरी) के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Q. Computer Science (CS) (कंप्यूटर साइंस) क्या होता है?

Ans : Computer Science जिसे आमतौर पर CS कहा जाता है, Computer और Computational System का अध्ययन है। जिसके अंतर्गत Computer Technology (Hardware, Software) के बारे में Study की जाती है।
इसके अंतर्गत Computer System (Hardware), Program (Software), Algorithm, Theory, Logic, Data Structure, और Programming language जैसे विषय शामिल होते है।

Q. Company Secretary (कंपनी सेक्रेटरी) (CS) का मतलब क्या होता है?

Ans : Company Secretary (CS) प्राइवेट सेक्टर और बड़े पब्लिक सेक्टर्स में उच्च वेतन वाली नौकरियों में से एक है। यह अक्सर मैनेजर या उससे भी ऊपर की पोस्ट होती है। एक Company Secretary (CS) कंपनी के टैक्स रिटर्न को बनाने, रखने और ऑडिट करने, कंपनी के लेनदेन और खातों का रिकॉर्ड रखने, कंपनी के वित्तीय स्वास्थ्य के बारे में निदेशक मंडल को सलाह देने और यह सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है कि कंपनी कानूनी और वैधानिक नियमों का अनुपालन करती है।

Q. Chemistry के क्षेत्र में CS का मतलब क्या होता है?

Ans: Chemistry के क्षेत्र में CS का फुल फॉर्म Copper Sulfate और Cesium होता है। ये अलग अलग केमिकल्स होते हैं।

Some Other Full Forms

What is NBA Full Form? NBA का Full Form क्या होता है? जानें NBA के बारे में जरूरी बातें…
PCM Full Form | PCM, PCB, PCMB क्या होता है? जानें PCM, PCB, PCMB के बारे में जरुरी बातें
What is TI Full Form? TI का Full Form क्या होता है? जानें TI के बारे में जरूरी बातें…
What is SQA Full Form? SQA का Full Form क्या होता है?

दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी कैसी लगी।

अगर ये आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो इसे 5 star रेटिंग दीजिए!

Average rating 5 / 5. Vote Count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

Kavita Devi
Kavita Devi

 कविता देवी  हिन्दी में जानें ब्लॉग की Founder और Author है। इन्हें हमेशा से इंटरनेट पर जानकारी पढ़ना और उसे अन्य लोगों के साथ शेयर करना पसंद है। अगर आपको इनके द्वारा शेयर की गई जानकारी अच्छी लगती है तो आप इन्हे Social Media पर फॉलो कर सकते है। Thank You!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *