What is TET, CTET, STET Full Form? TET, CTET और Super TET क्या है? जानें इनके के बारे में जरूरी बातें…

TET Full FORM CTET Full Form Sper TET Full Form
4.5
(4)

TET, CTET और Super TET क्या है? / TET, CTET, Super TET Full Form

सरकारी नौकरी पाना तो हर किसी का सपना होता है, फिर चाहे वो टीचर हो या पुलिस की नौकरी हो। हर कोई इन क्षेत्रों में अपना करियर बनाना चाहता है। लेकिन इसके लिए आपको विशेष योग्यता की जरूरत होती है। अगर आप सरकारी टीचर बनना चाहते है तो इसके लिए आप को TET का एग्जाम क्लियर करना पड़ता है।

Table of Contents

लेकिन दोस्तों बहुत से लोग ये नही जानते हैं की TET का एग्जाम क्या होता है? TET का फुल फार्म (TET Full Form) क्या होता है? या TET का मतलब क्या होता है? और दोस्तो इनसे सम्बन्धित कुछ और भी टर्म्स होते हैं जैसे CTET, UPTET, STET, Super TET, MPTET आदि और भी बहुत सारे।

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपको TET और उससे सम्बन्धित सारे टर्म्स के बारे में जैसे TET का एग्जाम क्या होता है? TET का फुल फार्म (TET Full Form) क्या होता है? या TET का मतलब क्या होता है? और CTET, UPTET, STET, Super TET, MPTET क्या हैं? इन सबकी Full Form क्या है? और CTET, UPTET, STET, Super TET, MPTET का मतलब क्या होता है? आदि के बारे में जानकारी देंगे।

तो दोस्तों यदि आपको TET या इससे सम्बंधित किसी भी टर्म्स के बारे में जानकारी चाहिए तो आप इस ऑर्टिकल को पढ़ सकते हैं।

दोस्तों सबसे पहले आपको बता देते हैं की TET क्या है? और TET का मतलब (TET Full Form) क्या होता है?

TET Full Form ( TET Exam kya hai)

तो दोस्तों आपको बता दें कि TET का Full Form होता है “Teacher Eligibility Test” (हिंदी में अर्थ “शिक्षक पात्रता परीक्षा“)

TET Full Form : Teacher Eligibility Test

TET Full Form in Hindi : टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट

हिन्दी में अर्थ: शिक्षक पात्रता परीक्षा

TET Full Form Teacher Eligibility Test

TET (Teacher Eligibility Test) क्या है? 

TET – Teacher Eligibility Test – यह एक तरह का एग्जाम है जिसे क्लियर करने के बाद आपको सर्टिफिकेट मिल जाता है कि अब आप टीचर बनने को तैयार है।

यह एक प्रवेश परीक्षा है जो विभिन्न राज्यों में (सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए) आयोजित की जाती है। TET का आयोजन केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों द्वारा किया जाता है। अगर TET Exam केन्द्र सरकार करवाती है तो उसे CTET कहते है वही किसी राज्य के द्वारा करवाया जाता है तो राज्य के नाम के हिसाब नाम दिया जाता है जैसे उत्तर प्रदेश के लिए UPTET व मध्य प्रदेश के लिए MPTET आदि।

  • सरकारी शिक्षक के पदों पर भर्ती के लिए TET एक महत्वपूर्ण परीक्षा है।
  • National Council for Teacher Education (NCTE) के द्वारा जारी Guidelines के आधार पर यह परीक्षा केंद्र एवं राज्य दोनों स्तर पर आयोजित की जाती है।
  • राष्ट्रीय स्तर पर CBSE यानी Central Board of Secondary Education द्वारा TET का आयोजन किया जाता है।
  • वहीं राज्य पर भी यह परीक्षा वहां के प्रोफेशनल एग्जाम बोर्ड के द्वारा आयोजित होती है।

TET दो तरह का होता है – CTET और STET

CTET – CTET का मतलब होता है Central Teacher Eligibility Test

CTET Full Form : Central Teacher Eligibility Test ( सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) 

CTET Full Form Central Teacher Eligibility Test

इसे क्वालीफाई करने के बाद देश में कहीं भी टीचर की भर्ती निकलेगी तो आप उसमे अप्लाई कर सकते है।

केन्द्र सरकार द्वारा आयोजित CTET (Central Teacher Eligibility Test) का एग्जाम साल में दो बार होता है। इस एग्जाम को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education / CBSE) करवाता है। इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) और नवोदय विद्यालय समिति (NVS) जैसे केंद्र सरकार के स्कूलों में टीचर बन सकते हैं।

STET – STET का मतलब होता है State Teacher Eligibility Test

STET Full Form : State Teacher Eligibility Test (स्टेट टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट) 

STET Full Form State Teacher Eligibility Test

STET (State Teacher Eligibility Test) राज्य स्तर पर होता है, सभी राज्य इसका अलग-अलग एग्जाम कराते है, जैसे कि UP के लिए UPTET, बिहार के लिए BIHAR TET, राजस्थान के लिए Rajasthan TET etc. आप जिस भी राज्य का TET क्वालीफाई करेंगे सिर्फ उसी राज्य में टीचर बन सकते है। जबकि CTET क्वालीफाई करने के बाद पूरे देश में कहीं भी टीचर बन सकते हैं।

इन्हें भी देखें :-  What is ECI Full Form? ECI क्या है? ECI का मतलब क्या होता है? जानें ECI के बारे में ….

STET का एग्जाम भी CTET की ही तरह है, लेकिन इसमें सिर्फ फर्क ये है कि ये एग्जाम राज्य सरकार द्वारा कराई जाती है। कई राज्य सरकार हर साल TET परीक्षा आयोजित करती हैं जैसे उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा UPTET, राजस्थान राज्य सरकार द्वारा RTET, बिहार राज्य सरकार द्वारा Bihar STET, पंजाब राज्य सरकार द्वारा PSTET, मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा MPTET, कर्नाटक राज्य सरकार द्वारा KTET, तमिलनाडु राज्य सरकार द्वारा TNTET वगैरह।

इन राज्यों के TET एग्जाम क्लियर करने के बाद, उम्मीदवार सिर्फ संबंधित राज्य सरकारों द्वारा संचालित स्कूलों में शिक्षण कार्य के लिए योग्य हो जाते हैं।

  • TET और CTET दोनों ही एक कॉमन टेस्ट हैं जिसके माध्यम से अलग-अलग सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति की जाती है। मतलब जो उम्मीदवार इस पात्रता परीक्षा को पास कर लेता है वो सरकारी टीचर बनने के काबिल हो जाता है।
  • TET (Teacher Eligibility Test) का एग्जाम क्लियर करने के बाद उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर 8वीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए, किसी भी गवर्नमेंट स्कूल में टीचर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • TET की परीक्षा हर राज्य के व्यावसायिक परीक्षा बोर्ड के द्वारा आयोजित की जाती है।
  • इस Exam को पास करने पर उम्मीदवार को कक्षा 1 से 5 तक के लिए प्राथमिक शिक्षक के तौर पर नियुक्ति का Eligibility Certificate और कक्षा 6-8 तक के लिए उच्च प्राथमिक शिक्षक के तौर पर नियुक्ति का Eligibility Certificate दिया जाता है।

तो आइए आगे हम आपको बताते हैं कि TET का इम्तिहान कैसा होता है और इस एग्जाम में कौन लोग हिस्सा ले सकते हैं।

TET और CTET Exam के लिए क्या है योग्यता?

TET की परीक्षा में 2 पेपर देने होते हैं। पेपर 1 कक्षा 1 से 5 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए प्राथमिक चरण का होता है।

और पेपर 2 कक्षा छह से आठवीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए उच्च प्राथमिक चरण का होता है।

इन दोनों अलग-अलग पेपर्स के लिए उम्मीदवारों से थोड़ी अलग-अलग योग्यता मांगी जाती है।

इस परीक्षा में बैठने के लिए जरूरी योग्यता की बात करें तो TET के लिए योग्यता मानदंड हर राज्य के लिए अलग-अलग हो सकते हैं, राज्य स्तर पर इसका निर्धारण राज्य सरकार करती है।

हालांकि सभी राज्य की TET परीक्षाओं के लिए आधारभूत मानदंड लगभग समान ही रहते हैं।

TET Paper 1 के लिए जरूरी योग्यता

इस पेपर को पास करने वाले उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर 5 तक के प्राइमरी टीचर बन सकते हैं।

Required Qualifications

  • Candidate को 12th पास होना चाहिए, साथ ही 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक प्राप्त होने ही चाहिए।
  • इसके साथ-साथ उम्मीदवार को प्राथमिक शिक्षा में दो साल का डिप्लोमा किया हुआ होना चाहिए।
  • उम्मीदवार को ग्रेजुएशन या B.Ed पास होना चाहिए, या फिर इनके अंतिम साल में होना चाहिए।

Age Qualification

General Category के उम्मीदवारों की आयु 18 से 35 वर्ष होनी चाहिए। पिछड़ा वर्ग के लिए 3 साल की छूट, SC/ST उम्मीदवारों को आयु सीमा में 5 वर्ष और Handicaped उम्मीदवारों को 10 वर्ष की छूट दी जाती है।

TET Paper 2 के लिए जरूरी योग्यता

  • Candidate को 12th पास होना चाहिए, साथ ही 12वीं कक्षा में कम से कम 50% अंक प्राप्त होने ही चाहिए।
  • D.El.Ed Course कम से कम 50% अंकों के साथ क्लियर किया हुआ होना चाहिए।
  • उम्मीदवार का ग्रेजुएशन पूरा होना चाहिए और साथ ही उम्मीदवार का बीएड भी कंप्लीट होना चाहिए या फिर B.Ed के अंतिम साल में होना चाहिए।

Age Qualification

General Category के उम्मीदवारों की आयु 18 से 35 वर्ष होनी चाहिए। पिछड़ा वर्ग के लिए 3 साल की छूट, SC/ST उम्मीदवारों को आयु सीमा में 5 वर्ष और Handicaped उम्मीदवारों को 10 वर्ष की छूट दी जाती है।

इसे पास करने के बाद उम्मीदवार 6 से लेकर 8 कक्षा तक के शिक्षक बन सकते हैं।

दोनों अलग-अलग कक्षाओं के पेपर्स के हिसाब से TET एग्जाम का सिलेबस आदि भी उसी हिसाब से रहता है।

TET कितने साल का होता है?

उम्मीदवारों के मन में एक संशय यह भी है कि आखिर TET के सर्टिफिकेट की वैलिडिटी (TET Certificate Validity) कितने साल की होती है? इसे लेकर महत्वपूर्ण जानकारी नीचे साझा की जा रही है।

बता दें कि शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी TET के सर्टिफिकेट की वैधता (TET Certificate Validity) आजीवन रहती है। पहले यह 7 साल की होती थी, लेकिन बाद में नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (NCTE) ने इसे बढ़ाकर जीवन भर के लिए कर दिया गया था। जिसके बाद CTET समेत सभी TET परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवार सर्टिफिकेट के माध्यम से आजीवन टीचर की जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

TET का इतिहास

  • TET का एग्जाम इंडियन गवर्नमेंट द्वारा 2011 में टीचिंग के स्टैंडर्ड में सुधार के लिए शुरू किया गया था। इसमें पहले से अपॉइंट टीचर्स को 2 साल के अंदर एग्जाम क्लियर करने को कहा गया था।
  • CTET (Central Government Teacher Eligibility Test) की शुरुआत RTI अधिनियम की धारा 23 की उप धारा 1 के प्रावधानों के अनुसार नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर्स एजुकेशन (NCTE) को पात्रता के लिए न्यूनतम योग्यता निर्धारित करने वाली 23 अगस्त 2010 और 29 जुलाई 2011 की अधिसूचना प्राप्त होने के बाद हुई थी।
  • Class 1 to 8 के लिए बच्चों को (Right to Free and Compulsory Education Act) RTI की धारा 2 के (N) में संयोजित किसी भी स्कूल में टीचर की नियुक्ति के लिए एनसीटीई (NCTE) के अनुसार TET का एग्जाम क्लियर करना जरूरी है।
  • राष्ट्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सीबीएसई (CBSE) दिल्ली को CTET का एग्जाम आयोजित करने को कहा। यह संस्था साल में 2 बार CTET का एग्जाम आयोजित करवाती है। CTET के एग्जाम को 20 इंडियन लैंग्वेज में आयोजित किया जाता है। और हर बार लगभग 14 लाख कैंडिडेट Teacher Eligibility Test (TET) के एग्जाम के लिए आवेदन करते हैं।
इन्हें भी देखें :-  What is CVLKRA Full Form? CVLKRA का Full Form क्या होता है? जानें CVL KRA क्या है?

Teacher Eligibility Test (TET) का Exam Pattern

TET की परीक्षा कुल 150 अंकों की होती है। इसका क्वेश्चंस पेपर पांच खण्डों में विभाजित होता है। जिसके प्रत्येक खंड में 30 प्रश्न, कुल मिलाकर 150 प्रश्न होते है। सभी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप के होते है। प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित होता है। इसमें नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है। Paper 1st और Paper 2nd में अलग-अलग विषयों का प्रश्न होता है।

पेपर 1st (कक्षा 1 से 5 तक के शिक्षक बनने के लिए) का सिलेबस

  • बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र (Child Development and Pedagogy)
  • भाषा – 1 : हिंदी / अंग्रेजी / उर्दू (Language I : Hindi/ English/Urdu)
  • भाषा – II : क्षेत्रीय भाषा (Language-II : Regional Language)
  • गणित (Mathematics)
  • पर्यावरण अध्ययन (Environmental Studies)

पेपर 2nd (कक्षा 6 से 8 तक के शिक्षक बनने के लिए) का सिलेबस

  • बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र (Child Development and Pedagogy)
  • भाषा – 1: हिंदी / अंग्रेजी / उर्दू (Hindi/English/Urdu)
  • भाषा – II: क्षेत्रीय भाषा (Regional Language)
  • गणित एवं विज्ञान (Mathematics & Science)
  • सामाजिक विज्ञान (Social studies)

Teacher Eligibility Test (TET) के एग्जाम की तैयारी कैसे करें?

  • Teacher Eligibility Test (TET) के एग्जाम की तैयारी करने के लिए सबसे पहले TET Exam के Pattern और सिलेबस की जानकारी प्राप्त करें।
  • एग्जाम पैटर्न व सिलेबस को समझने के लिए पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्रों को देखें।
  • Previous Year Question Paper की बुक मिलती है Question Bank के नाम से उस किताब को खरीदकर, पिछले वर्षों के प्रश्नों को देखें। इससे एग्जाम के पैटर्न व सिलेबस जानकारी होगी, जिससे तैयारी करने में सहायता मिलेगी। पिछले वर्षों के प्रश्न-पत्रों से पता चलेगा कि किस विषय से कितने और किस तरह के प्रश्न आते हैं। इसके अलावा आप TET के एग्जाम की तैयारी के लिए TET Exam Practice Book आती है, उसे खरीदकर उससे भी तैयारी कर सकते हैं।
  • सभी विषयों की अलग-अलग किताब खरीद कर पढाई करें। इसके लिए आप NCERT की Books का अध्ययन करें। अगर आप पेपर 1st (1 to 5 Class) की तैयारी कर रहे हैं, तो 1 से 5 क्लास तक की NCERT की किताबें पढ़ें। और अगर Paper 2nd (6 to 8 Class) की तैयारी कर रहे हैं, तो कक्षा 6 से 8 तक की NCERT की किताबें पढ़ें।
  • प्रतिदिन एक TET Sample Paper को हल करें। इसे हल करने के बाद देखे कौन-सा प्रश्न गलत हुआ है। जो प्रश्न गलत होता है, उसे समझकर हल करने का प्रयास करें।
  • समय-सारणी (Routine) बनाकर सभी विषयों की पढाई करें।
  • जिस विषयों में आप कमजोर हैं, उन विषयों पर अधिक ध्यान दें।

TET के एग्जाम के लिए अलग अलग सब्जेक्ट की तैयारी कैसे करें?

  • बाल-विकास एवं शिक्षाशास्त्र (Child Development and Pedagogy) की तैयारी के लिए बाल विकास की किताब खरीदकर, सभी मनोवैज्ञानिकों की थ्योरी का अध्ययन करें। इसके लिए D.El.Ed / B.Ed की बुक्स भी पढ़ें।
  • National Curriculum Framework राष्ट्रीय पाठ्यचर्या रुपरेखा (NCE) का अध्ययन करें।
  • Right To Education Act (RTE) का अध्ययन करें।
  • भाषा की तैयारी के लिए हिंदी व्याकरण और अग्रेजी ग्रामर का अध्ययन करें।
  • Self Study पर ध्यान दें।
  • टाइम मैनेजमेंट के लिए प्रतिदिन कुछ प्रश्नों को हल करें।

अगर आपको तैयारी करने में समस्या हो रही है, तो आप इंस्टिट्यूट का सहारा ले सकते हैं। वर्तमान समय में बहुत सी इंस्टीट्यूट TET के एग्जाम की तैयारी करवाते है। यदि आप गांव में रहते हैं और वहां इंस्टिट्यूट की व्यवस्था नहीं है तो आप TET की तैयारी ऑनलाइन भी कर सकते हैं, अब कई इंस्टिट्यूट TET के एग्जाम के लिए Online Preparation भी करवाते है।

इसके अलावा आप Youtube के माध्यम से भी तैयारी कर सकते हैं। यूट्यूब में कई ऐसे चैनल है, जो Teacher Eligibility Test (TET) के एग्जाम की तैयारी करवाते है।

तो दोस्तो ये थी TET की फुल फार्म (TET Full Form) और CTET और STET के बारे में जानकारी। अब यहीं हम आपको TET से सम्बन्धित कुछ अन्य Terms के बारे में भी जानकारी देंगे। जैसे UPTET, Super TET, या PTET क्या हैं? अब आगे आपको इनके बारे में जानकारी मिलेगी।

UPTET और Super TET क्या है?

दोस्तो जैसा की हमने आपको ऊपर ही बताया है की केन्द्र सरकार द्वारा आयोजित TET का एग्जाम CTET कहलाता है। वहीं विभिन्न राज्य सरकारों द्वारा आयोजित TET एग्जाम STET (जो प्रत्येक राज्य के नाम के हिसाब से अलग अलग होता है) कहलाता है। इसी STET के तहत उत्तर प्रदेश राज्य सरकार द्वारा आयोजित TET एग्जाम UPTET कहलाता है। UPTET का Full Form Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test होता है।

UPTET Full Form : Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test

UPTET Full Form Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test

इसके अलावा अगर आप UP के राज्यों में टीचर बनने के इच्छुक हैं तो आपको UPTET पास करने के साथ-साथ Super TET भी पास करना होता है। UPTET या CTET परीक्षा क्लियर करने के बाद आप Super TET परीक्षा में शामिल होने के लिए Eligible हो जाते है।

Super TET उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा करवाई जाने वाली राज्य स्तर की शिक्षक पात्रता परीक्षा होती है जो सरकारी विद्यालयों में प्राथमिक अध्यापक (Primary Teacher) और उच्च प्राथमिक अध्यापकों की भर्ती करवाने हेतु आयोजित होती है। इस प्रक्रिया द्वारा सरकारी विद्यालयों में सहायक अध्यापकों की भर्ती की जाती है।

इन्हें भी देखें :-  What is WCCB Full Form? WCCB का फुल फॉर्म क्या है? जानें "वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो" के बारे में सभी जरूरी बातें…

PTET Full Form

PTET का Full Form “Pre Teacher Education Test” होता है और हिंदी में “प्री टीचर एजुकेशन टेस्ट“ होता है। PTET कोर्स को राजस्थान बीएड के नाम से भी जाना जाता है, जो अभ्यर्थी को सेकंड ग्रेड और थर्ड ग्रेड अध्यापक बनने की योग्यता प्रदान करता है।

PTET Full Form : Pre Teacher Education Test

PTET Full Form Pre Teacher Education Test

TET Exam से सम्बन्धित सभी Terms के फुल फार्म की लिस्ट

  • TET Full Form : Teacher Eligibility Test
  • CTET Full Form : Central Teacher Eligibility Test
  • STET Full Form : State Teacher Eligibility Test
  • UPTET Full Form : Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test
  • MPTET Full Form : Madhya Pradesh Teacher Eligibility Test
  • RTET Full Form : Rajasthan Teacher Eligibility Test
  • REET Full Form : Rajasthan Eligibility Examination for Teachers
  • Bihar STET Full Form: Bihar State Teacher Eligibility Test
  • PSTET Full Form: Punjab State Teacher Eligibility Test
  • KTET Full Form : Kerala Teacher Eligibility Test
  • TNTET Full Form: Tamilnadu Teachers Eligibility Test
  • PTET Full Form : Pre Teacher Education Test

Some Other TET Full Form

TermFull Form
TETText Extraction Toolkit
TETTake Every Tylenol
TETThe Environmental Trust
TETTeledyne Electronic Technologies
TETTubal Embryo Transfer
TETTone Equal Temperament
TETTrilogy Energy Corp
TETTest Environment Toolkit
TETTubal Embryo Transfer – Chingozi का Airport Code

FAQ About TET Full Form

Q. TET की Full Form क्या होती है?

Ans : TET का Full Form होता है “Teacher Eligibility Test” (हिंदी में अर्थ “शिक्षक पात्रता परीक्षा”)
TET Full Form : Teacher Eligibility Test
TET Full Form in Hindi : टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (शिक्षक पात्रता परीक्षा)

यह एक तरह का एग्जाम है जिसे क्लियर करने के बाद आपको सर्टिफिकेट मिल जाता है कि अब आप टीचर बनने को तैयार है।

Q. TET Exam में “CTET” और “STET” क्या होते हैं?

Ans : TET का आयोजन केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों द्वारा किया जाता है। अगर TET Exam केन्द्र सरकार करवाती है तो उसे CTET कहते है वही किसी राज्य के द्वारा करवाया जाता है तो उसे STET कहते है।

CTET – CTET का मतलब होता है Central Teacher Eligibility Test इसे क्वालीफाई करने के बाद देश में कहीं भी टीचर की भर्ती निकलेगी तो आप उसमे अप्लाई कर सकते है।
केन्द्र सरकार द्वारा आयोजित CTET (Central Teacher Eligibility Test) का एग्जाम साल में दो बार होता है। इस एग्जाम को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education / CBSE) करवाता है। इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) और नवोदय विद्यालय समिति (NVS) जैसे केंद्र सरकार के स्कूलों में टीचर बन सकते हैं।
STET – STET का मतलब होता है State Teacher Eligibility Test
STET (State Teacher Eligibility Test) राज्य स्तर पर होता है, सभी राज्य इसका अलग-अलग एग्जाम कराते है, जैसे कि UP के लिए UPTET, बिहार के लिए BIHAR TET, राजस्थान के लिए Rajasthan TET etc. आप जिस भी राज्य का TET क्वालीफाई करेंगे सिर्फ उसी राज्य में टीचर बन सकते है। जबकि CTET क्वालीफाई करने के बाद पूरे देश में कहीं भी टीचर बन सकते हैं।
STET का एग्जाम भी CTET की ही तरह है, लेकिन इसमें सिर्फ फर्क ये है कि ये एग्जाम राज्य सरकार द्वारा करवाया जाता है।

Q. क्या B.ED और TET एक ही है?

Ans : नही B.ED और TET दोनों अलग हैं।
TET एक प्रवेश परीक्षा है जो विभिन्न राज्यों में सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए आयोजित की जाती है। सरकारी शिक्षक के पदों पर भर्ती के लिए TET एक महत्वपूर्ण परीक्षा है। जिसे क्लियर करने के बाद आपको सर्टिफिकेट मिल जाता है कि अब आप टीचर बनने को तैयार है। वहीं बीएड एक स्नातक डिग्री है जो एक टीचर ट्रेनिंग डिग्री है जो 1 वर्ष की होती है।

Q. क्या TET के लिए B.ED करना जरूरी है?

Ans : TET के एग्जाम के लिए दो बुनियादी शैक्षणिक योग्यताएं जरूरी हैं। उम्मीदवारों को एजुकेशन में डिप्लोमा या एजुकेशन में बैचलर डिग्री (बी. एड) प्राप्त होना चाहिए या किसी अन्य निर्धारित टीचर एजुकेशन प्रोग्राम / कोर्स को पूरा करना चाहिए।

Q. क्या TET की परीक्षा आसान है?

Ans : TET (टीचिंग एलिजिबिलिटी टेस्ट) एक ऐसी परीक्षा है, जिसे हर किसी को पास करना होता है, अगर वह सरकारी शिक्षक बनना चाहता है। हालांकि ये परीक्षा बहुत कठिन नहीं है, लेकिन एक अच्छी योजना ही आपको इसे पास करने में मदद कर सकती है।

Q. क्या TET के लिए D Ed अनिवार्य है?

Ans : TET एग्जाम में एंट्री के लिए निम्नलिखित अहर्ताए हैंउम्मीदवारों को किसी भी स्ट्रीम में स्नातक उत्तीर्ण होना चाहिए और न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ किसी भी स्ट्रीम में दो वर्षीय डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन (D Ed) के अंतिम वर्ष होना चाहिए या उत्तीर्ण होना चाहिए या फिर एक वर्षीय B.ED कोर्स में उत्तीर्ण होना चाहिए।

Q. क्या मैं कोचिंग के बिना CTET पास कर सकता हूँ?

Ans : हां, CTET परीक्षा को पास करने के लिए कोचिंग की आवश्यकता नहीं है। परीक्षा में सफल होने के लिए आप अपनी खुद की रणनीति से ही CTET के एग्जाम की तैयारी कर सकते है। साथ ही, पिछले वर्ष के CTET के प्रश्न पत्रों को हल करना और मॉक टेस्ट का प्रयास करना हमेशा तैयारी में एक प्लस प्वाइंट होता है।

Q. CTET के उम्मीदवार कहां टीचर बन सकते हैं?

Ans : CTET के एग्जाम को क्लियर करने के बाद आप केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) और नवोदय विद्यालय समिति (NVS) जैसे केंद्र सरकार के स्कूलों में टीचर बनने के काबिल होते हैं।

दोस्तों आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी कैसी लगी।

अगर ये आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो इसे 5 star रेटिंग दीजिए!

Average rating 4.5 / 5. Vote Count: 4

No votes so far! Be the first to rate this post.

दोस्तों अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि उन्हें भी इस बारे में जानकारी मिल जाए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *